हिसार के सोनी बर्न अस्पताल में कोरोना के 5 मरीजों की मौत पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल और पूर्व CM भूपेंद्र हुड्डा के बीच तीखी बहस

PMG News Chandigarh

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान प्रदेश में हुई कोरोना मरीजों की मौतों पर विधानसभा में दूसरे दिन भी हंगामा हुआ। पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र हुड्‌डा ने कहा प्रदेश सरकार का कहना है-किसी भी कोरोना मरीज की मौत ऑक्सीजन की कमी के कारण नहीं हुई, लेकिन यह तथ्य पूरी तरह से गलत है। प्रदेश सरकार लोगों के सामने झूठे आंकड़े पेश कर रही है। इस बात को लेकर सदन में काफी देर तक हंगामा होता रहा। इस दौरान मौजूदा व पूर्व मुख्यमंत्री के बीच कई देर तक तीखी बहस हुई। हंगामे के बाद मुख्यमंत्री ने विपक्ष द्वारा उठाई गई मांग को स्वीकार करते हुए कहा कि सरकार कोरोना मरीजों की मौत मामले की हाई पावर कमेटी से जांच करवाएगी।

शून्यकाल के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्‌डा ने कहा कि कोरोना के समय ऑक्सीजन की कमी के कारण प्रदेश में मरीजों की मौत हुई हैं। हुड्डा ने हिसार के सोनी बर्न अस्पताल में हुई पांच मरीजों की मौत की जांच रिपोर्ट को पढ़कर सुनाया और कहा कि इसमें साफ लिखा है कि मरीजों की मौत ऑक्सीजन नहीं मिलने के कारण हुई हैं। जबकि प्रदेश सरकार बड़ी बेशर्मी से सदन के आगे झूठे आंकड़े रख रही है। हुड्‌डा की इस बात पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल सीट से उठकर खड़े हो गए और कहा कि वह इस बारे में कल जवाब देंगे। इसके बाद सदन में हंगामा होना शुरू हो गया। हंगामा होते देख मुख्यमंत्री ने सदन में मेडिकल बोर्ड व एसडीएम की जांच रिपोर्ट पढ़कर सदन में सुनाते हुए कहा कि इस जांच रिपोर्ट में साफ लिखा है कि सोनी बर्न अस्पताल में संसाधनों से ज्यादा संख्या में मरीज भर्ती थे। अस्पताल को प्रतिदिन 80 गैस सिलेंडर की जरूरत थी, लेकिन अस्पताल के पास सिर्फ 20 सिलेंडर थे। जांच रिपोर्ट से साफ है कि मरीजों की मौत अस्पताल प्रशासन की लापरवाही के कारण हुई है। ये जांच रिपोर्ट पुलिस को भेज दी गई हैं और इनके आधार पर आरोपी डॉक्टर के खिलाफ गैर इरादात का मामला दर्ज होगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *