फेफाना में समय पर नहीं मिला उपचार तो हार्ट अटैक आए व्यक्ति ने तोड़ा दम

PMG News Nohar

यहां का राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र फिर से विवादों में है। ताजा मामला बीती रात का है। जानकारी के अनुसार फेफाना के अंबेडकर विद्यालय के पास रहने वाले राज्यपाल वर्मा को शुक्रवार की रात्रि करीब 10:30 बजे हार्ट अटैक आने के बाद परिजन उन्हें स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर गए लेकिन वहां पर कोई चिकित्सक नहीं मिला। एक महिला नर्सिंग कर्मी ही मौजूद थी। परिजनों के अनुसार बाद में डॉक्टर को उनके निवास स्थान पर भी बुलाने के लिए गए लेकिन वहां भी डॉक्टर नहीं थे। करीब पौन घंटे तक वे चिकित्सक का इंतजार करते रहे। ऐसे में राज्यपाल को कोई उपचार नहीं मिल सका। परिजनों का आरोप है कि समय पर उपचार नहीं मिलने की वजह से राज्यपाल वर्मा की मौत हो गई। इस मामले को लेकर उन्होंने चिकत्सा विभाग के उच्च अधिकारियों को भी अवगत करवाया है। रविवार को सुबह उनके परिजनों सहित ग्रामीणों ने राजकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में धरना प्रदर्शन कर ड्यूटी के दौरान लापरवाही बरतने वाले चिकित्साकर्मियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने की मांग की। ग्रामीणों ने सरपंच प्रतिनिधि श्योवीर ज्यानी के माध्यम से विधायक, जिला कलेक्टर व चिकित्सा विभाग के उच्च अधिकारियों को ज्ञापन भेजकर तुरंत कार्रवाई की मांग की है। ज्ञापन में बताया गया है कि अगर दोषी कर्मियों पर कार्रवाई नहीं की गई तो आगामी दिनों में स्वास्थ्य केंद्र पर धरना दिया जाएगा।
● अक्सर रहते हैं नदारद,
——————————–
इस अवसर पर हुई सभा मे वक्ताओं ने कहा कि हरियाणा के नजदीक होने के कारण यहां पर डॉक्टर अक्सर ड्यूटी से नदारद रहते हैं। जिसको लेकर ग्रामीणों में आए दिन तकरार होती रहती है। इस समस्या को लेकर ग्रामीणों ने कई बार विधायक सहित उच्च अधिकारियों को अवगत करवाया लेकिन किसी को भी ड्यूटी के लिए पाबंद नहीं किया जा रहा हैं। सभा में पलाराम वर्मा, सतवीर घणघस, रवि प्रकाश भादू, प्रदीप कुमार, कालूराम आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *