रोहतक नगर निगम में 200 सफाई कर्मचारियों का सैलरी घोटाला

PMG News Rohtak

एक बार फिर रोहतक नगर निगम में घोटाले की आवाज गुंजती दिख रही है। शहर के एक सामाजिक कार्यकर्ता ने निगम के 200 सफाई कर्मचारियों की सैलरी में घोटले का दावा ठोका है। आरोप है कि नगर पालिका कर्मचारी संघ हरियाणा के इकाई प्रधान संजय बिड़लान ने इकाई सचिव श्रवण बौहत के साथ मिलकर निगम को लूटने का काम किया है। वो 200 सफाई कर्मचारियों की सैलरी में से एक हिस्सा खुद ले रहा है



रोहतक नगर निगम आयुक्त को जारी पत्र में सामाजिक कार्यकर्ता वीरेंद्र ने आरोप लगाया कि रोहतक में लगभग 700 सफाई कर्मचारी है जिनमें से 200 कर्मचारी यूनियन के इकाई प्रधान संजय बिड़लान ने फरलो पर छोड़ रहे है। ये कर्मचारी सुबह व शाम को केवल हाजरी के लिए आते है। इसके बदले में इनकी सैलरी में से 5 हजार रूपए संजय बिड़लान को जाते है हर महीने। इसस निगम का नाम खराब हो रहा है, कोरोना के काल में 200 सफाई कर्मचारी घर बैठे सैलरी ले रहे है और बाकी कर्मचारियों पर शहर की सफाई का बोझ पड़ रहा है।
इतना ही नहीं, वीरेंद्र का आरोप है कि लगभग 50 कर्मचारी ऐसे है जो यूनियन के काम का बहाना लगाकर संजय प्रधान के साथ रहते है और काम उनका करते है जबकि वेतन सरकारी लेते है। कुछ कर्मचारी तो संजय के घर का काम करते है, कोई ड्राइवर तो कुछ और काम में लगा है।



Leave a Reply

Your email address will not be published.