लाखों रुपयों का सामान चुराने की वारदात का खुलासा, दो जने काबू, 13 मई की रात्रि को नोहर में हिना कलेक्शन से पार किया था करीब चार लाख रुपए का सामान

PMG News Nohar

रात्रि के समय ताले तोड़ दुकान से रेडिमेड, मनिहारी, जूते सहित करीब चार लाख रुपए का अन्य सामान चोरी करने की पांच दिन पहले हुई वारदात का जिले की नोहर पुलिस ने तत्परता से खुलासा कर दिया। इस मामले में पुलिस ने सोमवार को दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। खास बात यह कि इनकी निशानदेही पर चुराया गया अधिकतर सामान भी बरामद कर लिया। पूछताछ में इनके एक और साथी के वारदात में शामिल होने की जानकारी पुलिस को मिली है। पुलिस उसे भी नामजद कर उसकी धरपकड़ के प्रयास कर रही है। आरोपी चुराया गया सामान कैंटर में भरकर ले गए थे तथा तीन अलग-अलग जगहों पर छुपाकर रख दिया था।




वारदात का खुलासा करने के लिए आरोपियों की पहचान करने में दुकान के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज मददगार साबित हुई। फिलहाल पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर शेष बरामदगी के साथ इनके फरार साथी की तलाश में जुटी है। मामले की जांच कर रहे नोहर थाने के सहायक उप निरीक्षक महेन्द्रसिंह ने बताया कि ज्ञान विद्या मंदिर के नजदीक गौरव पथ रोड पर गोशाला की दुकान छह नंबर छह हिना कलेक्शन पर 13 मई की रात्रि को ताले तोड़कर करीब चार लाख रुपए का सामान चोरी कर गाड़ी में डालकर ले जाने की घटना को लेकर 14 मई को पुलिस थाने में अज्ञात जने के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था। मामले की जांच के तहत हिना कलेक्शन के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगाली गई तो दो जने नजर आए। इनकी पहचान कर दो-तीन बार दबिश दी गई तो दोनों ही अपने-अपने ठिकानों से फरार मिले। इसके चलते इन पर चोरी का शक पुख्ता हो गया। अब फिर दी गई दबिश में इरफान (19) पुत्र शमशेर निवासी वार्ड नंबर 26, नोहर हत्थे चढ़ गया। पूछताछ की तो इरफान ने सदाम पुत्र हरूण निवासी कच्ची बस्ती नोहर के साथ मिलकर चोरी की वारदात को अंजाम देना स्वीकार कर लिया। इरफान ने पूछताछ में बताया कि वे चोरी करने के बाद सदाम के कैंटर में सारा सामान डालकर ले गए। चोरी करने के बाद वे भादरा में सदाम के दोस्त आदिल (18) पुत्र इसराइल खान निवासी चिडिय़ागांधी हाल ननिहाल भादरा के पास गए। चुराया गया आधा सामान उसके पास छुपा दिया। जबकि आधा सामान उसने व सदाम ने अपनी-अपनी जगहों पर छुपा दिया। उनका उद्देश्य इस सामान को बेचने का था।




जांच अधिकारी ने बताया कि इरफान की निशानदेही पर उसकी व सदाम की ओर से अलग-अलग जगहों पर छुपाया गया चोरी का मनिहारी, रेडिमेड, जूते, सैंडल, कपड़े, चप्पलें, गर्म कपड़े सहित अन्य सामान बरामद कर लिया। साथ ही आदिल को भी दबोच पूछताछ की तो उसने भी इनसे चोरी का सामान खरीदकर अपने पास छुपाकर रखना स्वीकार कर लिया। वह सामान भी बरामद कर लिया है। जांच अधिकारी महेन्द्रसिंह के अनुसार करीब 85 प्रतिशत सामान की बरामदगी कर ली गई है। फरार चल रहे सदाम को गिरफ्तार करने के प्रयास किए जा रहे हैं। उसकी निशानदेही पर वारदात में इस्तेमाल कैंटर भी बरामद किया जाएगा। गौरतलब है कि हिना कलेक्शन संचालक मोहम्मद यूसुफ (30) पुत्र मोहम्मद यासिन निवासी वार्ड नंबर 30, प्रोफेसर कॉलोनी, नोहर ने 14 मई को नोहर थाने में रिपोर्ट दर्ज कराते हुए बताया था कि 13 मई की रात्रि को अज्ञात व्यक्तियों ने उसकी दुकान का ताला तोड़कर दुकान में रखे रेडिमेड वस्त्र, हौजरी, चप्पल, जूते सहित करीब 4 से 5 लाख रुपए की कीमत का सामान चोरी कर लिया। पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ भादंसं की धारा 380 के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरू की। चोर इतने शातिर थे कि लॉक डाउन में दुकानें नहीं खुलने के चलते चोरी की घटना का किसी को पता न चले, इसके लिए जाते-जाते दुकान के ताला भी जड़ गए थे। दुकान मालिक के अनुसार चोर दुकान में रखा करीब सारे सामान पर हाथ साफ कर गए थे। सुबह जब दुकान मालिक दुकान के पास से जा रहा था तो एक ही ताला लगा देख उसे शक हुआ और चोरी की घटना का पता चला।



Leave a Reply

Your email address will not be published.