सिरसा में कोरोना संक्रमित युवक के संपर्क में आये थे 30 लोग, पांच आइसोलेट, 25 होम क्वारंटीन 

PMG News Sirsa

Sunil Nandwal

कोरोना वायरस को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने सतर्कता बरतते हुए कंटेनमेंट जोन से सैंपल लेने शुरू कर दिए हैं। शिव नगर के कोरोना पॉजिटिव मरीज के संपर्क में कुल 30 लोग आए थे, जिसमें कुछ लोग आइसोलेशन वार्ड तो कुछ होम क्वारंटीन कर दिए गए हैं  स्वास्थ्य विभाग के शिव नगर से एक कोरोना पॉजिटिव मिलते ही वहीं प्रशासन ने क्षेत्र को कंटेनमेंट जोन घोषित किया हुआ है। जहां स्वास्थ्य विभाग की टीमें प्रतिदिन सर्वे कर रही हैं। विभाग द्वारा भेजी गई 87 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है और वहीं 90 लोगों की रिपोर्ट का स्वास्थ्य विभाग को अभी भी इंतजार है।शहर की एक कॉलोनी में लोगों ने जागरूकता दिखाते हुए बाहर से आने जाने वालों पर रोक लगा दी है।




कोरोना संक्रमित व्यक्ति मिलने पर कंटेनमेंट जोन घोषित शिव नगर कॉलोनी में सर्वे को लेकर स्वास्थ्य विभाग की करीब 25 टीमें लगी हुई हैं। इन टीमों ने पहले दिन पूरे मोहल्ले में सर्वे किया कि कितने घर हैं और कितने लोग यहां पर रह रहे हैं, इसके साथ उन लोगों की स्क्रीनिंग भी की गई। इसी दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने पूरे मोहल्ले से करीब 87 सैंपल लिए थे, जिनमें सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। शहर में जब एक कोरोना पॉजिटिव युवक मिला था तो उस समय स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन में हड़कंप मच गया था। इसी दौरान स्वास्थ्य विभाग ने तुरंत युवक से पूछताछ शुरू कर दी थी कि वह इन दिनों किन-किन लोगों के संपर्क में आया था। जिस पर उक्त युवक ने बताया कि उसे यह तो याद नहीं है कि उसे कोरोना कैसे हुआ है पर उसके संपर्क में करीब 30 लोग आए हैं। जिन्हें स्वास्थ्य विभाग की टीम ने तुरंत आइसोलेट कर दिया। संपर्क में आए करीब 30 लोगों में से पांच लोगों को सिविल अस्पताल और 25 लोगों को विभाग ने घर में क्वारंटीन किया है।




वहीं शहर की भीम कॉलोनी में लोगों ने गलियों में बैरिकेड लगाकर बाहर से आने वाले लोगों की आवाजाही बंद कर दी है। गली निवासी जोगिंद्र ने बताया कि शहर में कोरोना ने दस्तक दे दी है। इस पर गलिवासियों ने रात को फैसला किया कि उनकी भी गली बंद कर दी जाए ताकि कोई भी अंदर न आ सके। शिव नगर कंटेनमेंट जोन में लोगों तक खाना पीना पहुंचाने के लिए एक गाड़ी अंदर गई। जहां गाड़ी में सवार लोगों ने कॉलोनी वासियों को बताया कि वह पैसे देकर खाने पीने का सामान ले सकते हैं। वहीं लोगों ने महंगा सामान लाने के आरोप लगाए। जिस कारण अधिकतर लोगों ने सामान लेने से ही इंकार कर दिया तो कुछ लोग पैसा न होने के कारण सामान खरीद ही नहीं पाए। स्वास्थ्य विभाग तथा आशा वर्कर्स कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए जुटे हुए हैं। शिव नगर में करीब 314 घर है, जिनमें 1592 लोग रहते हैं। आशा वर्कर्स की टीम इन सभी लोगों की स्क्रीनिंग करने में जुटी हुई है। वहीं इस दौरान अगर कोई खांसी जुकाम का मरीज मिलता है तो उसे अस्पताल में भेज दिया जाता है जहां उसकी जांच की जाती है। सोमवार को स्क्रीनिंग के दौरान करीब 15 लोगों को सिविल अस्पताल में जांच के लिए भेजा है। वहीं तीन फ्लू के भी मरीज मिले हैं जिन्हें सिविल अस्पताल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया है।



सोशल मीडिया पर लोग कोरोना पॉजिटिव युवक के बारे में अफवाह फैला रहे हैं कि वह दिल्ली से सामान लेने गया था, जिस पर उसे कोरोना हो गया। वहीं इस बात पर कोरोना पॉजिटिव युवक और दुकान के मालिक ने बताया कि वह कहीं नहीं गया था और न ही उनका सामान दिल्ली से आता है। सभी बातें अफवाह है और वह लॉकडाउन के चलते घर पर ही था।



Leave a Reply

Your email address will not be published.