मिशाल कायम कर रहे हैं रोहतक जिले के भगवतीपूर गांव के युवा

PMG News Rohtak

अंधेरा कितना भी ज्यादा क्यों ना हो रोशनी की एक किरण उसे दूर करने के लिए काफी होती है ।
यही मिसाल दे रहे हैं भगवती पूर भाईचारा एकता संगठन के सदस्य । जी हां रोहतक जिले का एक ऐसा गांव जहाँ के युवा इकट्ठा होकर ना सिर्फ गांव को लॉकडाउन कर रहे हैं बल्कि उसके साथ-साथ गांव में दैनिक दिनचर्या की जरूरी चीजें होती हैं उन्हें गांव वालों तक मौहिया भी करवा रहे हैं ।

भाईचारा एकता संगठन के सदस्य सुबह मंडी जाकर गांव वालों के लिए ट्रॉली में सब्जियां लेकर आते हैं और उन्हें गांव में मंडी के भाव में ही उपलब्ध करवाते हैं, इस काम को करते वक्त पूरे स्वास्थ्य हिदायतों का भी ध्यान रखते हैं जैसे मुंह पर मास्क लगाना, हाथों में gloves पहनना और एक दूसरे से उचित दूरी बना कर रखना । मंडी से लाई हुई सब्जियों को पहले अच्छे तरीके से धोया जाता है और उसके बाद गांव में उसे बेचा जाता है ।

 

सदस्य किसी भी प्रकार का कोई अतिरिक्त पैसा नहीं वसूलते जिस भाव में मंडी से सब्जी आती हैं उसी भाव में गांव वालों को उपलब्ध करवा रहे हैं ताकि इन जरूरी चीजों के लिए गांव वालों को गांव से बाहर ना जाना पड़े और इसके साथ-साथ गांव के कुछ युवा गांव के मैन बस स्टैंड पर बाहर से आने वालों के हाथ धुलवा कर उन्हें गांव में प्रवेश करने देते हैं । गांव के बस स्टैंड पर भाईचारा एकता संगठन के सदस्य साबुन पानी और सैनिटाइजर लेकर बैठे रहते हैं । गांव में कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से बचने के लिए गांव वालों को जागरूक भी कर रहे हैं । भाईचारा एकता संगठन को गांव वालों का प्यार और आशीर्वाद दोनों इनाम के तौर पर मिल रहा है जिससे हर सदस्य का मनोबल बढ़ता है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.