भिवानी में विदेश से आए एक भी नागरिक में अभी तक कोरोना के लक्षण नहीं, स्वास्थ्य विभाग के पास आई विदेश से आए 17 और नागरिकों की सूची

PMG News Bhiwani

स्वास्थ्य विभाग पंचकुला द्वारा सिविल सर्जन भिवानी को 17 ऐसे नए यात्रियों की एक और सूची भेजी गई है, जो कि अभी-अभी विदेश से आए हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा इन यात्रियों के घर-घर जाकर उनके यहां निवास स्थान पर पहुंचने व उनके स्वास्थ्य की जांच की जाएगी। जिला भिवानी में जो भी यात्री मिलेंगे, उनको भी 28 दिन तक स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा निगरानी में रखा जाएगा ताकि उनके किसी भी प्रकार के संक्रमण का पता चल सके और समय पर उपचार किया जा सके। अब तक विदेश से आए एक भी नागरिक में कोरोना के लक्षण नहीं मिले हैं।



इससे पहले जिला भिवानी में मुख्यालय द्वारा 64 यात्रियों की सूची प्राप्त हुई थी, जिसमें से चार व्यक्ति ऐसे पाए गए, जिनका फोन नंबर और निवास पता सही नहीं मिलने पर स्वास्थ्य विभाग का उनसे संपर्क नहीं हो सका। सिविल सर्जन डॉ. जितेन्द्र कादयान ने ये जानकारी देते हुए बताया कि महानिदेशक स्वास्थ्य सेवाएं पंचकुला से पूर्व में विदेश से जिला में आए 64 यात्रियों की सूची प्राप्त हुई थी, इन यात्रियों का स्वास्थय विभाग की टीम द्वारा उनके घर जाकर कोरोना वायरस का सुपरवीजन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा इन यात्रियों को 28 दिन तक निगरानी में रखा गया है। यह टीम उनके घर जाकर सभी प्रकार की जांच करती है। अगर किसी व्यक्ति में किसी भी प्रकार की बीमारी के लक्ष्ण पाए जाते हैं, तो उनको डाक्टर की सलाह अनुसार उनको दवाई दी जा रही है। कुल 64 यात्रियों में से अभी तक 27 यात्रियों का 28 दिन की निगरानी जांच पूरी हो चुकी है। इन यात्रियों में से सात यात्री ऐसे पाए गये जो जिस देश से आए थे, उसी देश में वापिस चले गए हैं तथा चार यात्री ऐसे थे, जिनका पता व फोन न. सही ना होने के कारण उनकी सूचना नहीं मिल पाई, इस बारे में राज्य मुख्यालय स्वास्थ्य विभाग को सूचित कर दिया गया है।
अभी तक एक भी यात्री में कोरोना के लक्षण नहीं
सिविल सर्जन ने बताया कि इन 64 यात्रियों मे से एक यात्री को संदिग्ध होने के कारण उसका सैम्पल लिया गया, जिसकी रिपोर्ट नगेटिव पाई गयी। टीम द्वारा प्रत्येक यात्री को 28 दिन तक उनके घर जाकर जांच करना अनिवार्य है। सभी यात्रियों की सूचना हमारे द्वारा राज्य मुख्यालय को समय-समय पर दी जा रही है। जांच में पाया कि अभी तक कोरोना वायरस के लक्ष्ण किसी भी यात्री में नहीं पाए गए। जो नई सूची मुख्यालय से प्राप्त हुई है, उनके घर-घर जाकर पता लगाया जाएगा और उनका स्वास्थ्य विभाग द्वारा सुपरवीजन किया जाएगा।
लोगों को किया जा रहा है जागरूक
सिविल सर्जन काद्यान ने बताया कि उपायुक्त अजय कुमार के आदेशानुसार स्वास्थ्य विभाग द्वारा हर उस जगह पर जागरूकता कैम्प लगाए जा रहे हैं, जहां पर लोगों का आवागमन अधिक रहता है तथा विभाग द्वारा ज्यादा भीड-भाड़ वाले स्थानों जैसे रेलवे-स्टेशन, बस स्टैण्ड, टेऊड फेयर आदि जगह जाकर स्वास्थय विभाग की टीम कोरोना वायरस के बचाव के पंपलेटस बांटकर लोगों को जागरूक कर रहे हैं। सिविल सर्जन ने जिले के सभी लोगों से आह्वान किया कि सभी व्यक्तियों को स्वयं जागरूक होना भी जरूरी है, कोई भी कार्य करने से पहले हाथों को साबुन पानी से अच्छी प्रकार से जरूर धोयें तथा अपने आस-पास के एरिया में स्वच्छता का विशेष ध्यान रखें।
जागरूकता के साथ-साथ सावधानी बरतनी जरूरी है
उन्होने बताया कि सभी व्यक्ति एक दूसरे से बातचीत करते समय उचित दूरी का ध्यान रखें। आपस में हाथ ना मिलायें तथा जब भी छीकें या खांसते समय अपने मुंह पर रूमाल, टीशू पेपर या मास्क का इस्तेमाल अवश्य करें। अगर किसी व्यक्ति को किसी भी प्रकार की शरीर में कोई तकलीफ जैसे खांसी-जुकाम, गला खराब, बुखार आदि महसूस हो तो तुरन्त अपने नजदीकी हस्पताल में चिकित्सक से सम्पर्क करें तथा ठण्डे पेय पदार्थ व बासी भोजन का प्रयोग ना करें। सिविल सर्जन ने बताया कि जो भी दिशा-निर्देश दिए जाते हंै, उनकी पालना अवश्य करें तथा किसी भी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान ना दें। स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोरोना वायरस से सम्बंधित जानकारी के लिये हैल्पलाईन नंबर 7027847102 जारी किया गया है, जिस पर फोन करके कोई भी व्यक्ति इस वायरस से सम्बंधित जानकारी ले सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.