मैडिकल कॉलेज के निर्माण कार्य को लेकर चल रहा धरना 12वें दिन में प्रवेश

PMG News Bhiwani

मैडिकल कॉलेज के निर्माण कार्य को लेकर गांव प्रेमनगर में ही पूरा करवाने हेतु चल रहा धरना बुधवार को 12वें दिन में प्रवेश कर गया। क्षेत्र की इस बहुत बड़ी योजना जिससे क्षेत्र में स्वास्थ्य, शिक्षा
एवं रोजगार की सुविधाएं मुहैया हो सकें। इसके लिए क्षेत्र की जना धरने पर बैठी हुई है। जिसकी आधारशीला मुख्यमंत्री मनोहरलाल व तत्कालीन केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री जेपी नडडा ने 29 जुलाई 2017 को गांव प्रेमनगर में रखी थी और 18 महीने में इस योजना को पूरा करने की घोषणा भारी जन समूह के सामने की थी लेकिन तीन साल पूरे होने को आए है और अभी तक मैडिकल कॉलेज कागजों के ही चक्कर लगा रहा है। जिस जगह पर आधारशीला रखी, जिस जमीन को दान स्वरूप गांव प्रेमनगर ने सरकार को दिया ताकि क्षेत्र की जनता को इस
बहुत बड़ी योजना का लाभ जल्द से जल्द मिल सके। जहां दिवार बनाकर तैयार कर दी गई और अभी तक प्रशासन मैडिकल को कागजों से भी बाहर नहीं निकाल पाया है।



इसी के विरोध में पूरे क्षेत्रभर की ग्राम पंचायतों, सभी ग्रामीणों,अनेक सामाजिक संगठनों ने सरकार से इस योजना को पूरा करवाने हेतू धरना
दिया गया है। जिस काम को सरकार ने पंचायत प्रेमनगर द्वारा दान में दी गई भूमि का सम्मान रखना चाहिए, गांवों वालों के सामने उनकी दानशीलता के आगे नतमस्तक होना चाहिए उल्टा सरकार जनता की भावनाओं का तिरस्कार कर रही है और जनता से किए वादे को पूरा नहीं कर रही है। बुधवार को धरने पर फैसला लिया गया की पूरे क्षेत्र की सभी ग्राम पंचायतें अपनी ग्राम सभा एवं ग्राम पंचायत के प्रस्तावों के माध्यम से अपने जनप्रतिनिधियों, विधायकों, सांसदों तथा उपायुक्त के माध्यम से मुख्यमंत्री व केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन, हरियाणा स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज और मैडिकल ऐजूकेशन विभाग हरियाण को ज्ञापन भेजेंगी तथा मैडिकल कॉलेज का निर्माण गांव
प्रेमनगर द्वारा दान में दी गई जमीन पर पूरा करने का समर्थन करेगी। वन रैंक वन पैंशन की संचालक दिल्ली से सुदेश गोयत ने सरकार की नीति और नियत में अंतर बताते हुए जनता को धोखा देना बताया। जिसका उदाहरण गांव प्रेमनगर में जिले की मैडिकल योजना को न बनाना है

Leave a Reply

Your email address will not be published.