अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर हुआ आइडियल वीमेन अचीवमेंट अवार्ड 2020  का आयोजन

 PMG News Kanina

Inderjeet Sharma

कोमल है तू कमजोर नहीं तू, शक्ति का नाम ही नारी है… कुछ इसी तरह की लाइन को सार्थक कर रही हैं कनीना की ये महिलाएं। जिन्हें कोमल और कमजोर माना जाता है, आज वे कई अलग-अलग क्षेत्रों में कामयाबी की इबारत लिखकर परचम लहरा रही हैं। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर कुछ ऐसी मजबूत और सशक्त महिलाओं का सम्मान बीएमडी क्लब द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर कान्हा जी स्कूल में आइडियल वीमेन अचीवमेंट अवार्ड 2020 कार्यक्रम का आयोजन कर किया गया  | इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि एडवोकेट रेखा यादव थी। विशिष्ट अतिथि कृष्ण कुमार,सूबेदार मेजर महिपाल सिंह,कुलदीप यादव,नीरज सैन,रानी लक्ष्मीबाई अवार्डी लवली शर्मा,शेरसिंह थे | कार्यक्रम की अध्यक्षता फिल्म निर्देशक इंद्रजीत शर्मा ने की जबकि मंच संचालन रमन सिंह ने किया | कार्यकम सयोंजक की भूमिका बीएमडी क्लब के चेयरमैन लक्की सीगड़ा ने निभाई|
इस कार्यक्रम के तहत महिला सशक्तिकरण,प्रौढ़ शिक्षा ,झुग्गी झोपड़ियों में निःशुल्क शिक्षा देना ,खेल-कूद ,स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण , युवा नेतृत्व,मानवीय एवं पारिवारिक मूल्यों का संरक्षण ,जल संरक्षण आदि सामाजिक कार्यों के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान देने वाली आदर्श महिलाओं का चयन किया गया | इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य आदर्श महिलाओ को एक मंच प्रदान करना था ताकि भविष्य में उन्हें समाज सेवा के क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए प्रेरणा मिल सके  |
मुख्य अतिथि एडवोकेट रेखा यादव ने अपने उद्बोधन में कहा की लोगों को जगाने के लिए , महिलाओं का जागृत होना जरुरी है। एक बार जब वो अपना कदम उठा लेती है, परिवार आगे बढ़ता है, गाँव आगे बढ़ता है और राष्ट्र विकास की ओर उन्मुख होता है। भारत में महिलाओं को सशक्त बनाने के लिये सबसे पहले समाज में उनके अधिकारों और मूल्यों को मारने वाले उन सभी राक्षसी सोच को मारना जरुरी है जैसे दहेज प्रथा,अशिक्षा,यौन हिंसा, असमानता, भ्रूण हत्या, महिलाओं के प्रति घरेलू हिंसा।
कार्यक्रम में उपस्थित अन्य अतिथियों ने भी महिला सशक्तिकरण की अपील करते हुए कहा की इस देश में आधी आबादी महिलाओं की है | इसलिए  देश को पूरी तरह से शक्तिशाली बनाने के लिये महिला सशक्तिकरण बहुत जरुरी है। समाज में सभी क्षेत्रों में पुरुष और महिला दोनों को लिये बराबरी में लाना होगा । देश, समाज और परिवार के उज्जवल भविष्य के लिये महिला सशक्तिकरण बेहद जरुरी है। महिलाओं को स्वच्छ और उपयुक्त पर्यावरण की जरुरत है जिससे कि वो हर क्षेत्र में अपना खुद का फैसला ले सकें चाहे वो स्वयं, देश, परिवार या समाज किसी के लिये भी हो। कार्यक्रम संयोजक लक्की राव सीगडा ने कहा की जहां भारत में पहले महिलाएं अपने हक में कम ही बोलती थी, वहीं आज इक्कीसवीं सदी की स्त्री ने स्वयं की शक्ति को पहचान लिया है और काफी हद तक अपने अधिकारों के लिए लड़ना सीख लिया है. आज ही महिलाओं ने साबित कर लिया है वह हर क्षेत्र में अपना नाम बनाने में सक्षम है।

गौरतलब हैं की सामाजिक संस्था बीएमडी क्लब 13 वर्षों से समाज सेवा के क्षेत्र में अतुलनीय योगदान दे रही हैं |संस्था लगातार समाज सेवा में विभिन्न क्षेत्रों में देश के कोने-कोने में बढ़-चढ़कर भाग ले रही हैं | समय-समय पर संस्था को कई जगह पुरुस्कृत भी किया जा चुका हैं | पिछले साल भी बीएमडी क्लब ने 108 महिलाओं को सिलाई,बुनाई,कढ़ाई,ब्यूटी पार्लर का कार्य सिखाया था । यह वह महिलाएं थी जो सही तरीके से घर से बाहर भी नहीं निकल पा रही थी।सम्मान की कड़ी में कनीना की लवली को सम्मानित किया गया। लवली जब छोटी थी तब किसी कारण से उसके पैर में गलत इंजेक्शन लग गया था जिससे उसके पैर विकसित नहीं हो पाए और वह विकलांग हो गई । जीवन का संघर्ष चल ही रहा था पिता ने उन्हें अपने से अलग कर दिया । लवली उनकी मां और इनका भाई अलग जगह रहने लग गए । कुछ समय बाद लवली की मां भी भगवान को प्यारी हो गई उसके बाद लवली के ऊपर दुखों के पहाड़ टूट पड़े कोई भी व्यक्ति सहयोग करने के लिए आगे नहीं आया खुद अपने दम पर उन्होंने घर का कार्य बनाकर अचार पापड़ बनाकर ट्यूशन पढ़ा करके जीवन यापन करना प्रारंभ किया गांव के कुछ लोगों ने थोड़ा बहुत सहयोग किया उसके बाद कॉलेज की पढ़ाई की छोटे भाई की पढ़ाई कराई । लवली अभी अपने आसपास के झुग्गी झोपड़ियों के बच्चों को अपने घर पर पढ़ाई करवाती है ।
इस कार्यकम एडवोकेट बबली यादव,बीएमडी क्लब सदस्य प्रवीण कुमार,सोनू,कर्मपाल,स्वीटी,अंजू ,प्रियंका गोठवाल,प्रियंका वर्मा ,मंजू यादव ,रचना शर्मा,नीरू,कांता,पूनम ,वर्षा,सरोज,प्रदीप,बलबीर सहित क्लब के अन्य पदाधिकारीगण भी उपस्थित थे |

Leave a Reply

Your email address will not be published.