भिवानी बोर्ड की परीक्षाओं में पहले दिन 175 नकलची पकड़े, 4 परीक्षा केंद्रों की परीक्षा रद्द

PMG News Bhiwani

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड की सीनियर सैकेण्डरी (शैक्षिक, रि-अपीयर व मुक्त विद्यालय) हिंदी (कोर/ऐच्छिक)/हिंदी (कोर) के एवज में विदेशी छात्रों के लिए अंग्रेजी विशेष विषय की परीक्षा नकल के 175 मामले दर्ज किए गए। ड्यूटी से कौताही बरतने पर प्रदेशभर में 07 सुपरवाईज़र ड्यूटी से रिलीव किए गए, 04 परीक्षा केंद्र की परीक्षा रद्द की गई तथा एक प्रतिरूपण का केस दर्ज किया गया।

यह जानकारी देते हुए बोर्ड प्रवक्ता ने बताया कि बोर्ड अध्यक्ष डॉ. जगबीर सिंह के उडऩदस्ते द्वारा जिला नूँह व उसके उप-मण्डल फिरोजपुर झिरका के परीक्षा केंद्रों का औचक निरीक्षण किया गया, जहां नकल 03 केस पकड़े तथा बाहरी हस्तक्षेप एवं परीक्षा की पवित्रता भंग होने के कारण परीक्षा केंद्र रा.व.मा.वि. नगीना-2 (बी-1) पर आज हुई परीक्षा का पेपर रद्द किया गया। अध्यक्ष के विशेष उड़दस्ते द्वारा परीक्षा केन्द्र रा.व.मा.वि. काहनौर-1 (बी-1) पर नियुक्त पर्यवेक्षक श्री विकास कुमार, टी.जी.टी. संस्कृत अध्यापक, सैमपल एवं परीक्षा केन्द्र रा.व.मा.वि. बबैल-1 पर नियुक्त श्रीमती बबीता को परीक्षा ड्यूटी में कौताही के चलते कार्यभार मुक्त किया गया। अध्यक्ष के विशेष उडऩदस्ते द्वारा परीक्षा केन्द्र रा.व.मा.वि. बी.सी. बाजार, अम्बाला कैंट-8 में अनुक्रमांक 2001410073 का प्रतिरूपण केस दर्ज किया गया तथा केन्द्र अधीक्षक को एफ.आई.आर. दर्ज करवाने बारे निर्देश दिए गए।
प्रवक्ता ने बताया कि बोर्ड सचिव श्री राजीव प्रसाद, ह.प्र.से. के उडऩदस्ते द्वारा जिला झज्जर व उसके उप-मण्डल बेरी तथा रेवाडी जिले के परीक्षा केंद्रों का निरीक्षण किया गया तथा नकल के 18 केस पकड़े तथा परीक्षा केंद्र रा.क.व.मा.वि. बेरी-1 (बी-1) पर नियुक्त पर्यवेक्षक श्रीमती सुदेश कुमारी, कला अध्यापिका को ड्यूटी में कौताही के चलते कार्यभार मुक्त किया गया।

उन्होंने बताया कि विभिन्न अन्य उडऩदस्तों द्वारा नकल के कुल 154 मामले दर्ज किए गए तथा परीक्षा की पवित्रता भंग होने के कारण रा.क.व.मा.वि., सिसाना (सोनीपत), हरियाणा पब्लिक सीनियर सैकेण्डरी स्कूल, गोहाना-7, रा.व.मा.वि., पुन्हाना-3 (बी-1) परीक्षा केन्द्र रद्द करने की सिफारिश की जिस पर बोर्ड अध्यक्ष द्वारा निर्णय ले लिया गया है। इसके अतिरिक्त रा.क.व.मा.वि., सिसाना (सोनीपत) परीक्षा केन्द्र को 07 मार्च से जे.बी. हाई स्कूल, दिल्ली रोड़, खरखोदा-13 में शिफट किया गया है।

उन्होंने आगे बताया कि विभिन्न अन्य उडऩदस्तों द्वारा परीक्षा केन्द्र मारिया मंजिल स्कूल, नंगली रोड़, नूँह-21 पर नियुक्त पर्यवेक्षक श्री हरिओम, प्राईमरी अध्यापक, परीक्षा केन्द्र रा.व.मा.वि. गुरूग्राम-13 (बी-3) पर नियुक्त पर्यवेक्षक श्रीमती नीलम मेहरा, टी.जी.टी., परीक्षा केन्द्र सहीराम व.मा.वि. महम-11 (बी-1) पर नियुक्त श्रीमती शशी बाला, प्राईमरी अध्यापिका एवं परीक्षा केन्द्र अग्रवाल सीनियर सैकेण्डरी स्कूल- 05 (बी-1) पर नियुक्त पर्यवेक्षक श्री साहब सिंह को ड्यूटी में कौताही के चलते कार्यभार मुक्त किया गया।

मुख्यमंत्री हरियाणा श्री मनोहरलाल के नकल रहित व शांतिपूर्ण संचालन सम्बन्धी दिए गए निर्देशों का बहुत सकारात्मक प्रभाव पड़ा। प्रदेश के परीक्षा केन्द्रों पर पुलिस का अच्छा प्रबन्ध रहा और प्रशासनिक व शिक्षा अधिकारियों द्वारा लगातार परीक्षा केन्द्रों पर छापे मारे गए। बोर्ड के सभी उडऩदस्तों का केन्द्रों पर प्रभावी नियंत्रण रहा। उडऩदस्तों की सख्त निगरानी में ही केन्द्रों पर परीक्षा की ऑपनिंग तथा क्लोजिंग करवायी गई। ऑबर्जवर ने भी अच्छा कार्य किया।

उन्होंने आगे बताया कि बाहरी हस्तक्षेप रोकने में प्रदेश की अधिकांश पंचायतों द्वारा दिया गया सहयोग प्रशंसनीय है। इन परीक्षाओं में जो पंचायतें अभी तक आगे नहीं आई है, वे भी अपना पूर्ण योगदान दें। सभी पंचायतें परीक्षा केंद्रों के 200 मीटर की सीमा पर अपना पहरा दें, ताकि हस्तक्षेप करने वाले अवांछनीय तत्व दुस्साहस न कर सके। गांव व बच्चों का मान-सम्मान बना रहे तथा बदनामी का सामना न करना पड़े।

बोर्ड प्रवक्ता ने बताया कि कि परीक्षाओं को नकल-मुक्त बनाना है तथा परीक्षाओं में अनुचित साधनों का प्रयोग करने वालों तथा सहायता प्रदान करने वालों के खिलाफ ‘शून्य सहनशीलता’ की नीति अमल में लाई जाएगी। सभी उडऩदस्ते परीक्षा केंद्रों की प्रभावी जाँच करें तथा विभिन्न जगहों जैसे कमरों, वॉशरूमों, बाऊंडरी वॉलों आदि का पूर्ण निरीक्षण करें ताकि छुपाई गई अनुचित सामग्री का पता चल सके।
उन्होंने बताया कि पर्यवेक्षक का यह दायित्व होगा कि वह अपने-अपने कमरों की गहनता से जाँच करें। परीक्षा के दौरान जिस पर्यवेक्षक के कक्ष में 2 या इससे अधिक पर्ची मिलती हैं तो उसके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी। पर्यवेक्षक प्रत्येक परीक्षार्थी के प्रवेश-पत्र पर स्कैन फोटो को हस्ताक्षर चार्ट पर स्कैन फोटो से मिलान करके यह सुनिश्चित करेंगे कि वास्तविक परीक्षार्थी ही परीक्षा में बैठा है। कोई भी बैग/स्टेशनरी तथा मोबाईल फोन इत्यादि कमरे के अन्दर या कमरे के आस-पास न रखे जाएं। किसी भी परीक्षार्थी को परीक्षा केन्द्र में प्रवेश करने उपरान्त परीक्षा समाप्ति तक परीक्षा केन्द्र छोडक़र बाहर जाने की अनुमति नही होगी। परीक्षा समाप्ति उपरान्त सभी परीक्षार्थियों से उत्तर पुस्तिकाएं लेते समय विशेष सावधानी बरती जाए। यदि किसी उपस्थित परीक्षार्थी की उत्तरपुस्तिका उपलब्ध नहीं होती है तो उसका पूर्ण उत्तरदायित्व सम्बन्धित पर्यवेक्षक, उप-केन्द्र अधीक्षक एवं केन्द्र अधीक्षक का होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.